10 September 2018

रामजन्म भूमि में राम मंदिर बनाने की दिशा में एक कदम और....

SHARE
अयोध्या के विवादित रामजन्म भूमि मामले में ट्रायल की डेडलाइन पर सुप्रीम कोर्ट ने सख्त किये तेवर | सुप्रीम कोर्ट ने सेशन जज S. K यादव जो की बाबरी मस्जिद गिराए जाने से सम्बंधित मामले की सुनवाई कर रहे से पूछा की कैसे वे इस मामले का ट्रायल अप्रैल 2019 तक पूरा करेंगे ? सुप्रीम कोर्ट ने साथ ही उन्हें इसकी डेडलाइन तय करने का भी आदेश दिया.


ज्ञातव्य हो की इस मामले में राष्ट्रीय स्वंसेवक संघ के कई प्रमुख नेता जैसे लाल कृष्णा अडवाणी, उमा भारती, मुरली मनोहर जोशी और अनेक कारसेवकों के खिलाफ 26 साल से लंबित मुक़दमे का ट्रायल चल रहा है.
19 अप्रैल 2017 में सुप्रीम कोर्ट ने इस मुक़दमे से सम्बंधित रायबरेली में कारसेवको के खिलाफ चल रहे मामले को लखनऊ में ही सुने जाने का फैसला सुनाया था और इस मामले को अप्रैल 2019 से पहले निपटारे का आदेश दिया था.

लेकिन सेशन जज के द्वारा इस दिशा के कोई ठोस कदम ना उठाये जाने पर सुप्रीम कोर्ट ने नाराज़गी जाहिर की और खुद इस ट्रायल का समय समय पर संज्ञान लेने की बात कही| क्या ये कदम इस 26 साल पुराने  विवादित मामले और राम मंदिर बनाने की दिशा में एक मील का पत्थर सिद्ध होगा? ... 

SHARE

0 comments: