02 May 2019

विकलांगो का प्रेम या त्रासदी ( Inspired by true stories )

SHARE

विकलांगो का प्रेम या त्रासदी ( Inspired by true stories )


मै अचानक ही पूछ दिये - कहा के रहने वाले हो भाई ?
लड़का - विहार में पटना का । 
फिर मैंने पूछा तुम्हारा नाम क्या है ?
लड़का - धुरी 
हलाकि धूरी से अब हमारे परिचय का करीब - करीब 9 वर्ष हो चूका है मै उसे हमेशा स्वभाव से शांत, समझदार, समाजिकता के 
स्तर पर गरीब - अमिर व्यक्तियों के लिए हमेशा एक पाव पर खड़ा रहनेवाला के रूप में देखते थे । 
धूरी कभी कभी तो खुद को भूखे रहकर दूसरों को अपनी थाली के रोटी तक खिला देने वाला इंसान है ।   

Download Full Stories: Click Here
SHARE

0 comments: