Happy Independence Day 2021: देखिये कैसे महिलाओं ने दिखाया फिल्मों में देशभक्ति का रंग

भारत के लिए 15 अगस्त की दिन बेहत खास होती है। इस दिन भारत ने ब्रिटिश शासन की गुलामी से खुद को आजाद किया था। देश की आजादी के लिए कई महान क्रांतिकारियों ने अपना बलिदान दिया था। उनके बलिदान की गाथा को फिल्मों के जरिए भी दिखाता जाता रहा है। इतना ही नहीं कुछ ऐसी भी फिल्में रही हैं जो देशभक्ति से प्रेरित रही हैं। इनमें महिला प्रधान फिल्में भी शामिल हैं। बॉलीवुड की ऐसी कई महिला प्रधान फिल्में रही हैं जो देशभक्ति की भावना को पैदा करती हैं। स्वतंत्रता दिवस के इस खास मौके पर आज हम आपको उन्हीं महिला प्रधान फिल्मों के बारे में बतायेंगे।

  • गुंजन सक्सेना: द कारगिल गर्ल (2020)

जान्हवी कपूर की पहली फिल्म ‘गुंजन सक्सेना’ एक बायोपिक फिल्म है जो कि एक महिला पायलट गुंजन सक्सेना के जीवन पर आधारित है। गुंजन युद्ध क्षेत्र में उड़ने वालीं भारत की पहली महिला पायलट थीं। 1999 में कारगिल युद्ध के दौरान साहस और धैर्य का प्रदर्शन करने के लिए उन्हें शौर्य वीर पुरस्कार से सम्मानित किया गया था।

  • मणिकर्णिका: द क्वीन ऑफ झांसी (2019)

यह फिल्म झांसी की रानी मणिकर्णिका पर ​आधारित फिल्म ‘मणिकर्णिका: द क्वीन ऑफ झांसी’ यह भी देशभक्ति से प्रेरित एक शानदार फिल्म है। इस फिल्म में एक्ट्रेस कंगना रनोट रानी मणिकर्णिका की भूमिका में नजर आईं थीं। ये फिल्म एक महिला योद्धा होने की सशक्त कहानी प्रदर्शित है जो अपने देश की आन-बान शान के लिए अंग्रेजो से लड़ती है।

  • राजी (2018)

यह राजी फिल्म एक ऐसी लड़की की कहानी को बयां करती है जो भारत की आन बान और शान के लिए पाकिस्तान में शादी तक कर लेती हैं। यह फिल्म एक मुस्लिम लड़की सेहमत की कहानी है जो पाकिस्तान में शादी कर भारत के लिए जासूसी करती हैं। इस फिल्म में आलिया भट्ट के साथ अभिनेता विक्की कौशल मुख्य भूमिका में थे।

  • नीरजा (2016)

भारतीय एयर होस्टेस नीरजा भनोट की जिंदगी पर आधारित है। फिल्म में अभिनेत्री सोनम कपूर नीरजा के रोल में नजर आईं थीं। नीरजा ने अपनी पैन एम 73 की फ्लाइट में 359 यात्रियों को बचाते हुए अपने प्राणों की आहुति दी थी। विमान का 1986 में आतंकवादियों ने अपहरण कर लिया था।

  • चक दे! इंडिया (2007)

खेल और देशभक्ति से प्रेरित फिल्म है। शाहरुख खान स्टारर फिल्म ‘चक दे  इंडिया’ आज भी लोगों की पसंदीदा फिल्मों में से एक है। इस फिल्म में भारतीय महिला हॉकी टीम की एक काल्पनिक कहानी दिखाई गई है जो विश्व कप जीतती है। फिल्म की कहानी देशभक्ति की भावना पैदा कर देती है।

Leave Your Comments