मिलिए रियल लाइफ मोगली से जो घर की दाल रोटी नही जंगल की घास फुस खाता है

टीवी पर आने वाला शो मोगली तो हर किसी ने देखा होगा जिसमे वह जंगल में रहकर पला-बड़ा हुआ होता है , जिसके उसकी हरकते भी जानवरो जैसी हो गई थी। लेकिन कभी सोचा है वह तो एक शो था लेकिन असल जिंदगी में भी ऐसा कोई होगा जी है ऐसा आपको एक ऐसे रीयल लाइफ मोगली से मिलवाते है वो तो इंसान लेकिन उसकी कोई भी हरकत इंसानों जैसी नही है।

अगर आपको को इस मोगली का नाम बताए तो इसका नाम एली है और यह अफ्रीका के एक छोटे गांव में रहता है। इस मोगली को घर का खाना बिलकुल भी पसंद नही है , यह हरी भरी घास खाने का बहुत शौकीन है।  इस मोगली की मां इसे कितना भी खिलाए घर का दाल चावल लेकिन यह उसे मुंह तक नही लगाता अगर घास मिल जाए तो फट से खा जाता है। एली घास ही नही बल्कि  रवांडा गांव के पास जंगल में केले और बाकी फल भी खाता है ।

इस मोगली का पूरा नाम जंजीमन एली है इसकी मां कहती है की यह ईश्वर की एक देन है यह एक ईश्वर का तोहफा है लेकिन गांव के लोग इसे बंदर कह कर चिड़ाते है मुझे बहुत बुरा लगता है क्यूंकि इंसान होते हुए भी यह जानवर है । उसकी मां आगे कहती है की यह घर में कम जंगल में ज्यादा रहता है बहुत बार समझाया की जंगली जानवर कभी भी अटैक कर सकते है लेकिन यह बात नही मानता और जंगल में जा कर छिप जाता है ।

एरी स्कूल नही जाता क्योंकि अपने साथ ग्रामीणों से वह बहुत डरता है। उसकी मां कहती है की वह इंसानों से बहुत डरता है , अगर मैं उसका पीछा न करू तो वह नही आता भाग जाता है बहुत मेहनत करनी पड़ती है उसके पकड़ने के लिए क्योंकि वह इतनी तेज भागता है की कभी कभी उसे पकड़ना नामुनकिन हो जाता है । गांव वाले भी उसे जंगल की तरफ जाने नही देते , मां ने भी उसके लिए रस्सी बांध रखी है जब भी वह भागने की कोशिश करे तो उसकी मां उस पर रस्सी फेक कर पकड़ सके । एली बोलना भी नही जानता वह इशारों से अपनी बातो को बताता है।

और आपको बता दे एली में एक खास बात भी है वह यूसेन बोल्ट से भी ज्यादा तेज दौड़ता है , जब गांव के लोग उसे पकड़ने की कोशिश करते है तो लोगो को बहुत मेहनत करनी पड़ती है वह किसी के हाथ में नही आता है।

Leave Your Comments