आखिर क्यु असम की दिग्गज नेता और पूर्व सांसद सुष्मिता देव ने छोड़ी कांग्रेस

काँग्रेस सरकार को एक और ज़ोर का झटका लगा है ,अब सुष्मिता देव ने सोनिया को अपना त्याग पत्र दे दिया है।काँग्रेस से युवा नेता के जाने का  जैसे एक रास्ता सा बन गया है  अब सुष्मिता टीएमसी का दामन थामने जा रही है । सुष्मिता  ने पार्टी छोड़ने से पहले ही अपना twitter bio बदल लिया था तभी से उनके पार्टी छोड़ने की खबर ने आग लगा दी थी ।

सुष्मिता ने अपना आगे का समय  जनकल्याण मे लगाने को कहा है वो असम -बंगाल क बड़े नेता संतोष  मोहन देव की बेटी है । वह असम के सिल्चर  सीट से काँग्रेस पार्टी की सांसद भी रह चुकी है ।

उनके यू  त्याग पत्र देने के बाद काँग्रेस  नेता तरह तरह का बयान दे रहे है ।  रद्दीप का कहना है की हर कोई अपना फैसला लेने के लिए आज़ाद है हर किसी को हक़ है अपनी बात रखने का । आगे उन्होने कहा है की मै उन्हे फोन कर रहा हु पर उनका फोन बंद जा रहा है  मै अपनी तरफ से कोशिस करूँगा उनसे  बात कर के उन्हे समझाने की ।

सिंबल ने कहा की पार्टी तो आंखे बंद कर के  चल रही है जिसकी वजह से युवा नेता पार्टी छोड़ कर जाने को मजबूर हो गए है क्या इसका इलज़ाम भी बुज़ुर्ग नेताओ पर लगाएगी काँग्रेस ?

किर्ति चिदम्बरम ने कहा की अब तो पार्टी को सोचने की जरूरत है की युवा नेता क्यू पार्टी को छोड़ कर दूसरी पार्टी  का दामन थाम रहे है। पहले भी कई युवा नेता पार्टी छोड़ कर दूसरी पार्टी मे जा चुके है ।  अब तो वक़्त है कुछ सोचने  का।

Leave Your Comments